जानिए क्या है VR (वी आर) Glassesऔर इसकी मनमोहक दुनिया.

 

जानिए क्या है VR (वी आर) Glassesऔर इसकी मनमोहक दुनिया.                                  

सरल शब्दों में कहा जाए तो VR (Virtual Reality) एक वो तकनीक है जो आपके मोबाइल फ़ोन को एक सिनेमा हॉल में बदल देती है. यही नहीं आप चाहे तो 3D फिल्मों का भी आनंद ले सकते है वो भी बिना कोई रकम खर्च किये. VR का इस्तेमाल 360 विडियो देखने और साथ ही साथ गेम खेलने में भी खूब इस्तेमाल होता है.

सबसे अच्छी बात तो ये है की ये VR मशीन बहुत ही सस्ते होते है, और इनका प्रयोग भी बहुत आसान होता है. इसे न तो चार्ज करने की जरुरत पड़ती है और नहीं रखरखाव का कोई झंझट होता है. इसमें बस दो optical लेंस की जरुरत होती है, और सारा कमल इन्ही लेंस का ही होता है. ये लेंस आपके मोबाइल स्क्रीन को सिनेमा के परदे के आकर में बदल देते हैं.

आइये जाने कहाँ और कैसे खरीके VR Glasses:

जैसा की बताया गया है ये बहुत ही सस्ती होती है; आप चाहें तो flipkart या Amazon से खरीद सकते हैं. इनकी कीमत 150 रुपये से लेकर 10,000 रुपये हट होती हैं. सभी vr एक ही तकनीक से काम करते हैं, इसीलिए आपको चाहिए की एक औसत दाम वाले अच्छे vr ही ख़रीदे. इनके दाम में इतना फर्क सिर्फ इनके बनावट और लेंस के क्वालिटी पर देपेंद करता है. चुकी vr तकनीक अभी नई है, इसलिए आपको 5000 से ऊपर के VR खरीदने की सलाह नहीं दी जनि चाहिए.

वैसे तो आप 150 रुपये में भी कार्डबोर्ड वाला vr खरीद सकते हैं, पर इनकी उपयोगिता ज्याद अच्छी नहीं होगी. और हाँ, vr खरीदने से पहले अपने मोबाइल फ़ोन के साइज़ का भी ध्यान रखें. आपके मोबाइल फ़ोन का साइज़ 4 से 6 इंच के बीच ही होना चाहिय. आपके फ़ोन का स्क्रीन जितना बड़ा और पिक्सेल्स जितना घना होगा आपका vr स्क्रीन उतना ही बड़ा और सघन होगा.

भारत में प्रचलित VR Glasses:

भारत में अभी जो VR Glasses ज्यादा नाम कमा रहीं हैं वो हैं: ANT vr और Procus vr. आप चाहे तो दोनों में से कोई एक खरीद सकते हैं. Procus vr के लेंस ANT vr के मुकाबले ज्यादा अच्छे हैं, लेकिन धोड़ा महंगा हैं. जहाँ ANT vr का दाम 1500 रुपये के पास हैं, वहीँ procus vr के दाम 2500रु से 3500 रूपए हैं. ANT vr को आप अपने चश्मे के ऊपर पहन सकते हैं, पर procus के लिए आप को चश्मे उतारने होंगे. procus के लेंस को आप अपने दृष्टि दोष के अनुसार निर्धारित कर सकते हैं. vr खरीदते समय ये जरुर जांचने के कोशिश कर के VR Glasses का FOV (Field of View) कितने डिग्री तक का है. अगर FOV 100 डिग्री से ज्यादा है तो देखने का अनुभव बेहतर होगा.

VR Glasses के लिए APPS:

जी हाँ, VR Glasses का आनंद लेने के लिए आपको एक app डाउनलोड करनी होती है, जो की गूगल playstore पर आसानी से उपलब्ध हैं. फ़िलहाल VaRs VR app बहुत ज्यादा प्रचलित और इस्तेमाल में आसान हैं. इन अप्प्स का मुख्य मकसद होता है, आपके मोबाइल स्क्रीन को दो हिस्से में बाँटना. याद रखिये ये app सिर्फ आप के फोटो और विडियो को ही दो हिस्से में बाटते हैं. जब आपका फ़ोन स्क्रीन दो हिस्सों में बट जाये तो आप इसे अपने vr मशीन में घुसा दीजिये.  असके बाद आपका vr तैयार है, आपके दूसरी दुनिया में ले जाने के लिए.

कैसा होता है एहसास:

VR Glasses आपके फ़ोन स्क्रीन को लगभग 100 इंच के स्क्रीन में बदल देते हैं, और आप को सिनेमा हॉल के अन्दर होने का एहसास होता है. आप app में उपलभ्द सेटिंग्स के जरिये स्क्रीन या डिस्प्ले में मनपसंद बदलाव भी कर सकते हैं. आप चाहे तो अच्छे अनुभव के लिए हैडफ़ोन या ईरफ़ोन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

VR Glasses का भविष्य:

जानकारों का कहना है की इसका भविष्य इतना प्रभावशाली है के ये चाहे तो सिनेमा हॉल के अस्तित्व को ही ख़त्म कर दे. ये चाहे सच हो या न हो, पर इतना तो जरुर सच है की ये मनोरंजन के इतिहास में एक नया मोड़ है. दिन प्रति दिन इसमें कई सुधर आयेंगे, और इसकी लोकप्रियता बढती जाएगी.

अगर आप को VR glasses से जुडी कोई जानकारी चाहिए तो कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें.

Facebook Comments

Leave a Reply